शिकायत पर खोजते अवसर -मातहतों को बचाते अफ़सर…विश्व भ्रष्टाचार निवारण दिवस मनाना कितना सार्थक!

0
47
,

🔴शिकायत पत्र देखते ही फ़ैल जाती हैं पुतलियाँ – आँखों में नाचने लगती नोटों की हरियालियाँ.

🔴ढकोसला बन कर रह गई हैं हर प्रकार की जांच

🔴विश्व भ्रष्टाचार निवारण दिवस के अवसर पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा एन्टी करप्शन ब्यूरो एवं राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो के वेबसाईट www.acbeow.cg.gov.in का लोकार्पण किया जाना कितना होगा सार्थक ;भविष्य के गर्भ में..

पिछले कुछ दशकों से लगभग हर सरकारी, अर्द्ध सरकारी विभाग में एक समानता देखने मिल रही है कि किसी भी लोकसेवक के खिलाफ भ्रष्टाचार के खिलाफ शिकायत चाहे कितनी भी गंभीर क्यों न हो जाँच की खानापूर्ति में उलझा कर ठंडे बस्ते में डाल दी जाती है।इक्का दुक्का मामलों को यदि छोड़ दिया जाए तो अधिकांश मामलों में संबंधित कर्मचारी, अधिकारी का अन्यत्र स्थानांतरण कर दिया जाता है,कुछ मामलों में जिसमें प्रशासनिक/सत्तापक्ष की ओर से दबाव बनता है उसमें वक़्ती तौर पर निलंबन,पुलिस की जांच फिर लंबी न्यायालयीन प्रक्रिया (जोकि सर्वविदित है) में उलझकर मामला दम तोड़ देता है।हालिया दिनों में यह भी देखा जा रहा है कि सूचना के अधिकार अंतर्गत मांगी जाने वाली जानकारी या तो टाल दी जा रही है अथवा तोड़ मरोड़ कर प्रदाय की जा रही है,अपील करने पर अपीलीय अधिकारी का असहयोगात्मक रवैया तथा मनोवांछित जानकारी न मिलने से आवेदक हतोत्साहित होकर संबंधित की शिकायत तथ्यात्मक रूप से नहीं कर पाता और अधिकारी की शह पाकर (जिसमें हरियाली का हिस्सा बढ़ाना पड़ता है) मातहत बच जाता है।छत्तीसगढ़ की पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के शासनकाल में मुखिया रमन सिंह ने जीरो टॉलरेंस की बात कही थी इसे लेकर कॉंग्रेस ने काफ़ी हो हल्ला मचाया था कि भाजपा राज में भ्रष्टाचार चरम पर है इसीलिए मुखिया को यह बात स्वीकार करनी पड़ी और यदि कॉंग्रेस सत्तासीन होती तो भ्रष्टाचार मुक्त शासन छत्तीसगढ़ वासियों को मिलता।छत्तीसगढ़ वासियों ने इस बार कॉंग्रेस पर भरोसा जताते हुए पूर्ण बहुमत से सत्तासीन किया लेकिन कॉंग्रेस शासन काल के अल्प समय में ही सरकारी विभागों में भ्रष्टाचार ने सारी हदों को लांघ दिया है। सत्तानशीं होने के दो साल बाद सूबे के मुखिया ने भले ही आज विश्व भ्रष्टाचार निवारण दिवस के अवसर पर छत्तीसगढ़ के एन्टी करप्शन ब्यूरो एवं राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो के वेबसाईट www.acbeow.cg.gov.in का लोकार्पण किया जिसकी सार्थकता आगामी दिनों में स्पष्ट हो जाएगी।यह वेबसाईट पूरी तरह से छत्तीसगढ़िया भाषा में प्रदेश की प्रथम वेबसाईट है। इसमें जाकर कोई भी व्यक्ति अपनी ई.शिकायत दर्ज कर सकता है और जानकारी ले सकता है।जनता के द्वारा भ्रष्टाचार के प्रति शिकायत एवं जागरूकता के लिये हेल्पलाईन नंबर 1064 एवं व्हाट्सअप नंबर 8827461064 भी मुख्यमंत्री द्वारा लांच किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा भ्रष्टाचार के प्रति जागरूक करने के लिये पोस्टर भी लांच किया गया। इस पोस्टर को सभी शासकीय कार्यालय में लगाया जायेगा ताकि लोगों की भ्रष्टाचार संबंधित शिकायत तत्काल दर्ज कराया जा सके। इस अवसर पर मुख्यमंत्री राहत कोष में ईओडब्ल्यू/एसीबी के अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा दिये गये सहयोग राशि 1,25,000 रूपये का चेक भी जमा किया गया। भ्रष्टाचार निवारण दिवस के अवसर पर निदेशक आरिफ एच. शेख तथा पुलिस अधीक्षक पंकज चन्द्रा के निर्देशन में राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो एवं एन्टी करप्शन ब्यूरो, मुख्यालय रायपुर में भ्रष्टाचार का उन्मूलन करने के लिये प्रत्येक अधिकारी कर्मचारियों को सतर्क रहने, सदैव ईमानदारी से कार्य करने, सत्यनिष्ठा के उच्चतम मानकों के प्रति वचनबद्ध होने तथा भ्रष्टाचार के विरुद्ध संघर्ष में साथ रहने के लिये सत्यनिष्ठा की प्रतिज्ञा दिलाई गई।

हालांकि भ्रष्टाचार जोकि हमारे तंत्र का अभिन्न अंग बन चुका है इससे निजात दिलाने के लिए ऐसे किसी भी प्रयास की सफलता की कामना करना भी मृगमरीचिका से प्यास बुझाने के समान ही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here